love shayari

709+ Best Milan Shayari In Hindi | पहली मुलाकात शायरी

जिस्मों के मिलन को मोहब्बत समझने वालों !!
जिस्म से आगे इक रूह भी हैं !!

बिन मिले ही इतना न मिला करो हमसे !!
इज़हार ए इश्क़ में इक़रार सा हो जाता है !!

Famous Mulaqat Shayari in Hindi, Milan ki shayari, Milan Shayari, Milan Shayari In Hindi, Milan Status, मिलन की रात शायरी, मिलन शायरी इन हिंदी, मुलाक़ात शायरी

आओ फिर से अजनबी बन कर मिलें !!
तुम मेरा नाम पूछो मैं तुम्हारा हाल पूछूँ !!

तेरी ज़ुल्फ़ों की छाओ मिले तो इनमें पूरी शाम गुजारा करूं !!
पूरी उम्र का सफर उस एक पल के सहारे गुजारा करूं !!

तेरी ज़ुल्फ़ों की छाओ मिले तो इनमें पूरी शाम गुजारा करूं !!
पूरी उम्र का सफर उस एक पल के सहारे गुजारा करूं !!

अब बहक ही गयी हो बाहों में मेरी !!
तो थोड़ा वक़्त लगेगा रिहाई में तेरी !!

तुझ से मिलने को बे क़रार था दिल !!
तुझ से मिल कर भी बे क़रार रहा !!

कुछ याद आया तो लिखेगें फिर कभी !!
फिलहाल तो रूह बेचैन है तुम्हे देखने को !!

तुम्हारा ना होना खल जाता है !!
कितना प्यार है तुमसे पता चल जाता है !!

मुझसे मिलना अब ख्वाबों मैं हीं मुकम्मल हो सकता है !!
क्योंकि जालिम दुनिया मोहब्बत से पहले एक दूसरे का धर्म पूछ लेती है !!

Zakhmi Shayari in Hindi | जख्मी दिल शायरी

Milan Shayari In Hindi

किसी में मिल कर पूरा होना नहीं है मुमकिन !!
जिससे बाँट सको अपना अधूरापन वहाँ ठहर जाना !!

तुमसे मिलना और मिलकर बिछड़ना हमारा नसीब था !!
हम चाह के भी कुछ न कर सके दिल जलता रहा और समंदर करीब था !!

किसी में मिल कर पूरा होना नहीं है मुमकिन !!
जिससे बाँट सको अपना अधूरापन वहाँ ठहर जाना !!

तुमसे मिलना और मिलकर बिछड़ना हमारा नसीब था !!
हम चाह के भी कुछ न कर सके दिल जलता रहा और समंदर करीब था !!

क्या हुआ मुलाकात नहीं होती तो मेरी जान !!
प्यार तो फिर भी बेशुमार करते हैं !!

सोचता हु दोस्तों पर मुकदमा कर दू !!
इसी बहाने तारीखों पर मुलाकात हो होगी !!

छोड़ कर चले गए यूं हमसे क्या बेरुखी थी !!
मिले थे जब हम से वो मुलाकात ही अधूरी थी !!

चलो फिर चाय पर तुम शायरी की कुछ बात हो जाये !!
दो पल की ही सही पर एक मुक़्क़मल मुलाकात हो जाये !!

शायद वो मेरी जिंदगी की आखिरी हसीन बरसात थी !!
तुमसे मिलकर बिछड़ जाना वो आखिरी मुलाकात थी !!

Milan Shayari

तेरी हर बात ने मुझे उस दिन हैरान कर दिया !!
उस आखिरी मुलाकात ने मुझे परेशान कर दिया !!

हस के देख लेना मुझे जब आखरी मुलाकात हो तो !!
क्या पता अगली बार मुझे कफ़न में देखो और मुस्कुरा भी न पाओ !!

छोड़ कर चले गए यूं हमसे क्या बेरुखी थी !!
मिले थे जब हम से वो मुलाकात ही अधूरी थी !!

मुझे खुद से मुलाकात हो गई तुम मिले तो !!
कुछ भी तो कहा नहीं मगर जिंदगी से बात हो गई !!

अधूरे से रह गए हैं हम तेरी इन अधूरी मुलाकातों में !!
जान निकल जाती है मेरी तेरी इन जुदाई वाली बातों में !!

कुदरत के करिश्मों में अगर रात न होती !!
ख्वाबों में भी फिर उनसे मुलाक़ात न होती !!

कब हमारे दिल की बात पूरी हुई है !!
उनसे मिलने पर भी हर मुलाकात अधूरी हुई है !!

दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के !!
न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है !!

करने दो ना हमें दीदार अपना !!
ताकि सच होने लगे मेरी आँखों का सपना !!

मुझे फुर्सत ही कहा है जो मौसम सुहाना देखु !!
तेरी याद से निकलू तो ज़माना देखु !!

मिलन शायरी इन हिंदी

कभी हम अगर ख्वाब में मिल गए !!
बताओ फिर नज़रे मिलाओगे कैसे !!

कुछ लम्हे सजा कर रखे है मेने तुम्हारे लिए !!
इंतज़ार सिर्फ तुम्हारे मिलने का है !!

हर बार बुलाना पड़ता है उन्हें एक नए बहाने से !!
वो यूँही मिलने आते नहीं हमारे बेवजह बुलाने से !!

तुम महज मिलने का बहाना ढूंढ लेना !!
हम दुनिया के सामने उसे इत्तेफ़ाक़ साबित कर देंगे !!

मोहब्बत हो जाती है लेकिन उसे पाने के लिए किस्मत
बहुत तड़पती है !!

मसरूफ थे हो मिलने की चाह थी उनसे !!
फुर्सत मिली तो बात करने से भी दर लगता है !!

इन आँखों जब तेरा दीदार हो जाता है !!
दिन कोई भी हो त्यौहार हो जाता है !!

जैसे ख्याल तुम्हारा आता है बार-बार !!
तुम क्यों आके रह जाते हो हफ्ते में एक-बार !!

जब तुम्हारा आना होता है !!
ना जाने मेरा होश कहा चला जाता है !!

जब-जब तुमसे मिलना घट जाता है !!
मेरा प्यार उतना ही बढ़ जाता है !!

मिलन की रात शायरी

मेरी आँखों को कभी पढ़के देखना !!
तुम्हारे नाम के सिवाय और कुछ नहीं मिलेगा !!

बेनाम थी ज़िंदगी मेरी !!
अब मोहब्बत नाम रख दिया है उसका !!

जब-जब तेरा साथ मिल जाता है !!
सुकून भी मेरे पास आ जाता है !!

आइना देखती हूँ खुद को देखने के लिए !!
मगर कमाल है नज़र तुम आ जाते हो !!

जिस्मों के मिलन को मोहब्बत समझने वालों !!
जिस्म से आगे इक रूह भी हैं !!

आओ फिर से अजनबी बन कर मिलें !!
तुम मेरा नाम पूछो मैं तुम्हारा हाल पूछूँ !!

दिन भर भटकते रहते हैं अरमान तुझसे मिलने के !!
न ये दिल ठहरता है न तेरा इंतज़ार रुकता है !!

मुझे अच्छा लगता है तेरा हमसफ़र हो जाना !!
मिलकर तूझसे यारा फिर कही गुम हो जाना !!

मुझे अच्छा लगता है तेरा हमसफ़र हो जाना !!
मिलकर तूझसे यारा फिर कही गुम हो जाना !!

अब नहीं रहता मुझे बसंत का इंतज़ार !!
तुम्हारे आने से ज़िंदगी ही बन गयी बहार !!

Milan Status

जिस्मों के मिलन को मोहब्बत समझने वालों !!
जिस्म से आगे इक रूह भी हैं !!

बिन मिले ही इतना न मिला करो हमसे !!
इज़हार-ए-इश्क़ में इक़रार सा हो जाता है !!

मेरे ज़ज़्बातों की चिंगारी को आपने हवा क्या दी !!
मेरे दिल में तेरे नाम की आग-सी लग गयी है !!

नमकीन-सी मेरी ज़िंदगी में मिठास घोल देते हो !!
बिन सुने मुझे मेरे दिल की बात बोल देते हो !!

तेरी यादें तेरी बातें बस तेरे ही फ़साने है !!
हां क़ुबूल करते है कि हम तेरे ही दीवाने है !!

बेनाम थी ज़िंदगी मेरी !!
अब मोहब्बत नाम रख दिया है उसका !!

जब-जब तेरा साथ मिल जाता है !!
सुकून भी मेरे पास आ जाता है !!

आइना देखती हूँ खुद को देखने के लिए !!
मगर कमाल है नज़र तुम आ जाते हो !!

किनारे से अब नहीं हम लौटेंगे !!
इश्क़ के दरिये में जी भर के डूबेंगे !!

दिल के रिश्ते किस्मत से मिलते है !!
वरना मुलाक़ात तो हजारों से होती हैं !!

Ghamand Quotes In Hindi | घमंड शायरी हिंदी

Milan ki shayari

खामोशियां बोल देती हैं जिनकी बातें नहीं होती !!
इश्क उनका भी कायम रहता है जिनकी मुलाकाते नहीं होती !!

बेवजह ही तो नहीं होती मुलाकातें अंजानो से !!
कोई तो अधूरा रिश्ता पूरा होता होगा !!

काफ़ी नहीं ख्वाब किसी बात के लिए !!
तशरीफ़ लाएं हसीं मुलाक़ात के लिए !!

तुझसे मुलाकात की एक ख्वाहिश है !!
यूँ तो मेरे फोन मे तेरी तस्वीर कई हैं !!

तरसेगा जब दिल तुम्हारा हमसे मुलाकात को !!
ख्वाबों में होंगे तुम्हारे हम उसी रात को !!

तुमसे फिर कब मिलना होगा !!
ज़ख़्म का फिर कब सिलना होगा !!

ऑंखे बंद करके तुझे महसूस करने के अलावा !!
तुमसे मिलने का और कोई रास्ता नहीं !!

मुझे एक इश्क मुकम्मल करना है !!
हाँ ये सच है मुझे तुमसे निकहा करना है !!

देखना एक दिन हम मर जायेगे !!
तुझसे मुलाकात की ख्वाहिश लिये !!

वादों की तरह इश्क भी आधा रहा !!
मुलाकातें कम रही इंतजार ज्यादा रहा !!

Famous Mulaqat Shayari in Hindi

आँख भर आई किसी से जो मुलाक़ात हुई !!
ख़ुश्क मौसम था मगर टूट के बरसात हुई !!

सूरज के सामने कभी रात नहीं होती !!
श्मशान में जाने के बाद मुलाकात नहीं होती !!

तुम मिले तो क्यू लगा मुझे की खुद से मुलाक़ात हो गयी !!
कुछ भी कहा तो नही मगर जिंदगी से बात हो गयी !!

अजीब मुलाकातों के किस्से है हमारे !!
सुकून पाते है दीदार ख्वाब मैं करके तुम्हारे !!

पहली मुलाकात अब भी याद है उनको देर हो रही थी !!
फिर भी मेरा हाथ पकड़ रखा था !!

आपसे दूर रह कर हर लम्हा आपके नाम कर दिया !!
चंद मुलाकात मे आपने मेरे दिल घायल कर दिया !!

बहुत मन कर रहा है तुमसे मिलने का !!
हो सके तो कुछ पल के लिए !!
आज ख्वाबों में आ जाना !!

उनसे मिलने को दिल चाहता है !!
कुछ सुनने सुनाने को दिल चाहता है !!
था किसी के मनाने का अंदाज़ ऐसा !!
फिर रूठ जाने को दिल चाहता है !!

अब नही इंतज़ार होता है !!
याद आती है आपकी !!
तो दिल बेचैन हो जाता है !!

आज फिर तुमसे मिलने को दिल चाहता है !!
पास बैठ कर बाते करने को दिल चाहता है !!
इतना हसीन था उनका आँसू पोछना !!
की आज फिर रोने को दिल कहता है !!

मुलाक़ात शायरी

कहते है कौन मिलता है !!
मतल्ब पूरा हो जाने के बाद !!
पर हमे तो और भी अछा लगता है !!
दिल मिलने के बाद !!

मिलना है तुमसे, खोने से पहले !!
कहना है तुमसे, रूठने से पहले !!
रूठना है तुमसे, जाने से पहले !!
और जीना है तुम्हारे साथ, मरने से पहले !!

दिल तो चाहता है तुमसे मिलना !!
लेकिन फासलों की मजबूरी है !!
हम तो सदा तेरे साथ है !!
सिर्फ़ नज़रों की दूरी है !!

ज़िन्दगी में कभी तू उदास मत होना !!
क्योंकि हमेशा मैं तेरे साथ हूँ !!
मेरी याद आये अपनी पलके बन्द कर लेना !!
मैं तेरे कहीं आस पास हूँ !!

पहली बार मिलने की शायरी !!
आओ करीब इतना के आपको हासिल कर ले हम !!
सीने से लगा लो इस तरह की खुद को रूह में दाखिल कर ले हम !!

सलामत रखना हमसे मुलाकात की दरकार !!
दुआ में इस नाचीज को सरकार सलामत रखना !!
माना की आपको वक्त नहीं मिलता दुनियादारी से !!
अपनी मसरुफियत में मेरा इतवार सलामत रखना !!

सुबह को जो नींद से जागे तबरात का !!
ख्याब याद आया गयाक्या खूब रही थी !!
सपनो में पहली मुलाक़ात आपसे !!

मैं तेरी याद में रात भर नहीं सोया !!
आखिरी मुलाकात के बाद !!
सच कहो क्या तुम्हारा दिल नहीं रोया !!
आखिरी मुलाकात के बाद !!

भरी बरसात में तुम हमें छोड़ गए !!
हम को तन्हा कर क्यों मुंह मोड़ गए !!
चाहते तो बिता सकते थे पूरा जीवन मेरे साथ !!
आखिरी मुलाकात में मेरे दिल को तोड़ गए !!

दिल की बात अभी अधूरी है !!
तेरी मेरी मुलाकात अभी अधूरी है !!
बहुत कुछ कहना है तुझसे मिलकर !!
तेरे बिना मेरी कायनात अधूरी है !!

Milan Shayari

एक बार फिर मेरे दिल पर हाथ रख लो !!
एक बार फिर मेरे जजबात तो पढ़ लो !!
अपने लिए ना सही मेरे दिल के लिए !!
आखिरी ही सही मुलाकात तो कर लो !!

जज़्बात बहक जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं !!
अरमान मचल जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं !!
मिल जाते हैं आँखों से आँखें हाथों से हाथ !!
दिल से दिल रूह से रूह जब तुमसे मिलते हैं !!

मिलना है तुमसे खोने से पहले !!
कहना है तुमसे रूठने से पहले !!
रूठना है तुमसे जाने से पहले !!
और जीना है तुम्हारे साथ मरने से पहले !!

उससे मिलने की ख़ुशी मत पूछो किसी होगी !!
जैसे अम्बर को मिलने की इज़ाज़त धरती को होगी !!
चाँद सितारे भी आयंगे हमारी उस मुलाकात में !!
वो शाम महफ़िल में सिर्फ हमारी ही बातें होंगी !!

कुछ बाते ज़ुबान पर नहीं !!
दिल में रहे तो अच्छी होती है !!
उनसे मिलने की ख़ुशी मत पूछो क्योकि !!
कलम से लिखने की हिम्मत नहीं होती !!

हर घडी हर लम्हा याद आता है !!
जब भी दिल में उसका ख्याल आता है !!
आज उन लम्हो को फिर से दोहराना है !!
हमें आज फिर से वक़्त एक साथ बिताना है !!

धड़कने मद्धम हो जाती है !!
जान हथेली पर आ जाती है !!
ज़मीं पर पड़ते नहीं कदम !!
आसमान में थिरकने लगते है !!

दिल तो चाहता है तुमसे मिलना !!
लेकिन फासलों की मजबूरी है !!
हम तो सदा तेरे साथ है !!
सिर्फ़ नज़रों की दूरी है !!

दिन हुआ हे तो रात भी होगी !!
हो मत उदास बात भी होगी !!
इतने प्यार से दोस्ती की हे आपसे !!
ज़िन्दगी रही तो मुलाक़ात भी होगी !!

मुलाकात के वो अधूरे किस्से रह गए !!
जुदाई के दर्द बस मेरे हिस्से रह गए !!
तुम तो मिल ही सकते थे किसी बहाने से !!
लेकिन तेरे सितम को हम हस्ते हस्ते सह गए !!

Maa Papa Quotes in Hindi | माता पिता पर शायरी

Milan Shayari In Hindi

अधूरी मुलाकात थी !!
आंसू की बरसात थी !!
छोड़ दिया तूने मुझको !!
तू मेरी कायनात थी !!

मत रहो दूर इतना हमसे की कल !!
तुम्हे अपने फैसले पर अफसोस हो जाये !!
कल शायद हमारी ऐसी मुलाक़ात हो !!
की आप हमसे लिपटकर रोये और !!
हम खामोश हो जाये !!

उस दिन हुई हमारी हर बात आखिरी थी !!
तुम्हारे साथ गुजारी वो रात आखिरी थी !!
हमने सोचा बिताएंगे जिंदगी तुम्हारे साथ !!
पर क्या पता था वो मुलाकात आखिरी थी !!

इस अदा से मिले वो हमसे कि !!
हमें उनसे एतबार हो गया !!
वो मुलाकात थी पहली और !!
हमें उनसे प्यार हो गया !!

चलो फिर चाय पर तुम शायरी की कुछ !!
बात हो जाये दो पल की ही सही पर !!
एक मुक़्क़मल मुलाकात हो जाये !!

तुम ठहरे हुँए तालाब !!
मै हूँ बहती नदी प्रिये !!
ऐसे में मुश्किल है !!
अपना मिलन प्रिये !!

मिलन की रात थी !!
जल रहा था दिल का दिया !!
बड़ी खूबसूरत थी तन्हाई भी !!
धड़क रहा था जिया !!

बेवजह, बेवक्त, बेहिसाब !!
अंबर जो बरस रहा !!
मिलन है ये तेरा मेरा !!
बरसों बाद जो हो रहा !!

मिलन की उम्मीद नहीं !!
फिर भी तेरा इंतजार है !!
अब कैसे बताऊं मैं किस कदर !!
इस दिल में तेरे लिए प्यार है !!

मुझे अच्छा लगता है !!
तेरा हमसफ़र हो जाना !!
मिलकर तूझसे यारा !!
फिर कही गुम हो जाना !!

Milan ki shayari

मैं लड़का सीधा-साधा !!
तू लड़की शैतान प्रिये !!
होगा अपना जल्द मिलन !!
तुम मत होना परेशान प्रिये !!

बंधन ऐसा बांध कि रूह से !!
रूह का मिलन हो जाए !!
तू सोचे मेरा नाम और !!
मेरे दिल को खबर हो जाए !!

तेरे मेरे मिलन का कुछ !!
ऐसा अनूठा मंज़र होगा !!
जैसे रेगिस्तान की तलब मिटाने आई !!
हो बे-मौसम बारिश कोई !!

मिलन का एक ख्वाब रखता हूँ !!
तेरी चाहत का ख्याल रखता हूँ !!
हो हमारा मिलन ख़्वाब्बो की तरह !!
हकीकत बनाने का ये प्रयास करता हूँ !!

मिलन का एक ख्वाब रखता हूँ !!
तेरी चाहत का ख्याल रखता हूँ !!
हो हमारा मिलन ख़्वाब्बो की तरह !!
हकीकत बनाने का ये प्रयास करता हूँ !!

तेरे मेरे मिलन का कुछ !!
ऐसा अनूठा मंज़र होगा !!
जैसे रेगिस्तान की तलब मिटाने आई !!
हो बे-मौसम बारिश कोई !!

बंधन ऐसा बांध कि रूह से !!
रूह का मिलन हो जाए !!
तू सोचे मेरा नाम और !!
मेरे दिल को खबर हो जाए !!

मैं लड़का सीधा-साधा !!
तू लड़की शैतान प्रिये !!
होगा अपना जल्द मिलन !!
तुम मत होना परेशान प्रिये !!

जब भी तुझसे मुलाकातें होने लगतीं हैं !!
एक अजब सी लहर सीने में दौड़ने लगती है !!
यूँ तो हजारों हैं इस जमाने मे दिल लगाने के लिए !!
फिर भी न जाने क्यूँ ये तेरे चहरे पर ठहरने लगतीं हैं !!

इश्क कहूँ इसे या नज़रों का धोखा कहूँ !!
क्योंकी आज तक हमे ये हुआ नही !!
उसे देखकर सांसें रुक गई दिल की धड़कन ठहर गई !!
क्योंकि आज से पहले दिल के साथ ऐसा हुआ नही !!

King Shayari In Hindi | किंग शायरी हिंदी

Milan Status

दिल में जो बातें हैं उन्हें पूरी ना कीजिए !!
जब मन हो मिल लीजिए !!
मुलाकात को अधूरा ना कीजिए !!

मुलाकात हुई हे आज रब से !!
आपके बारे में थोड़ी सी बात हुई है !!
क्या दोस्त दिया हे मेने पूछा !!
रब ने कहा संभाल के रखना मेरी परछाई है !!

दिल में एक टीस उठती है आज भी !!
तुम याद बहुत आते हो आज भी !!
वो आखिरी मुलाकात में आखिरी अल्फाज तेरे !!
मेरे कानों में सुनाई देते हैं आज भी !!

जज़्बात बहक जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं !!
अरमान मचल जाते हैं जब तुमसे मिलते हैं !!
मिल जाते हैं आँखों से आँखें, हाथों से हाथ !!
दिल से दिल, रूह से रूह जब तुमसे मिलते हैं !!

न जाने वो क्यूँ मुझसे खफा हो जातें हैं !!
मुझे लगता है शायद वो मुझे आजमाते हैं !!
उनकी यादों को तो हम इस तरह सीने से लगा रखेंगे !!
चाहे भले ही वो मुझे दूर से बुलातें हैं !!

जब उनका जिक्र छिड़ जाता है !!
तो एक इत्र सा फ़िज़ाओं में महक जाता है !!
जब वो मुझे अपनी झील सी आंखों से देखतें है न !!
तब मेरा दिल पल दो पल को ठहर सा जाता है !!

दिल मैं किसी का भी दुख नहीं !!
दिल की मेरी आदत नहीं !!
एक बार इस दिल मे !!
फिर भी मैं किसी भी तरह से नहीं !!

रात में खुदा से मुलाकात हुई !!
थोड़ी हुई लेकिन बात जरूर हुई !!
मैने आपके बारे में ही पूछा की !!
ये इंसान मेरे लिए कैसा हे तो खुदा बोला !!
इनसे रिश्ता बनाये रखना बिलकुल मेरे जैसा हैं !!

सब हालात रहे बस में सदा आपके !!
खुशियों से सदा आपकी मुलाकात रहे !!
मंजिले मिलती रहे रब की महेरबानी से !!
ईश्वर की कृपा आप पर दिन रात रहे !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *